Breaking News

जंगल से आबादी तरफ लौटी बाघिन, साथ में दो शावक, लाइव देखें वीडियो

पूरनपुर। शावको के साथ बाघिन की दस्तक आबादी क्षेत्र के खेतों में देखी गई तो सनसनी फैल गई। मामले की जानकारी पर तमाम ग्रामीण एकत्र हो गए और

घटनाक्रम की जानकारी पीटीआर के अलावा सामाजिक वानिकी के कर्मचारियों को दी गई लेकिन देर शाम तक कोई भी मौके पर नहीं पहुंचा। बाघ की आबादी क्षेत्र में चहलकदमी से दहशत देखी जा रही है। लिंक से देखें वीडियो

https://youtu.be/GFgJRKPzT50

घुंघचाई गांव के खानपुर पंडरी में सियाराम और राजकुमार के खेत में बाघिन और उसके दो शावक गांव के ही नन्हे लल्ला और विश्राम सिंह ने देखे जो खेत पर देखभाल के अलावा घास काटने के लिए गए थे जिन्हें

देखकर उनकी सिटी पुट्टी गुम हो गई और घटनाक्रम के बारे में ग्रामीणों को गांव में आकर जानकारी दी। जिस पर तमाम लोग मौके पर पहुंचे और गन्ने के खेत को घेरा लेकिन बाघिन और उसके शावको के होने के कारण लोगों की हिम्मत नहीं हुई। लिंक से देखें वीडियो-

https://youtu.be/1YKHy6AQeJ8

घटनाक्रम में सामाजिक वानकी के लोगों को सूचना दी गई लेकिन वार्ता नहीं हो पाई तो लोगों ने पीटीआर से जुड़े फॉरेस्ट विभाग के माला रेंज और दियोरिया रेंज के वन कर्मचारियों को मामले से अवगत कराया ।जिस पर काफी देर बाद 1 कर्मचारियों को भेजा गया लेकिन काफी रात हो चुकी थीइस संबंध में डीएफओ नवीन खंडेलवाल से भी घटनाक्रम से अवगत कराया गया। उन्होंने कहा कि मौके पर विभाग के लोगों को भेजा गया है और लोग संयम और सतर्कता बरतें इसी में भलाई है। अगर बाघिन और उसके शावक हैं तो हम लोग उसको ट्रेस कर जंगल ले जाएंगे।

जंगल मे 2 को मारने के बाद गांव तरफ तो नहीं लौट आई बाघिन

 2 दिन पूर्व माला रेंज के जंगल से सटे आबादी क्षेत्र में बाघिन और उसके शावक देखे गए थे जिसको लेकर के काफी चर्चाएं रहीं। कहीं यह वही शावक और बाघिन तो क्षेत्र में दस्तक नहीं दे रही है जो वह देखी गई थी।  विभाग के आला अधिकारी दियोरिया रेंज के जंगल में रास्ते से गुजर रहे बाइक सवारों पर हमलावर हुए बाघ की गुत्थी सुलझा नहीं पाए थे कि फिर से बाघ की दस्तक आबादी क्षेत्र में पाए जाने से वन कर्मी परेशान हैं। बताया जा रहा है कि जिस जगह पर बाघ द्वारा हमला किया गया था कैमरे में भी वह कैद नहीं हो पाया वही

https://youtube.com/shorts/fI07jARKrmM?feature=share

माला रेंज में बाघिन और उसके शावक देखे गए जिससे कयास लगाया जा रहा है कि कहीं यह वही बाघिन तो नहीं जिसने दियोरिया गांव के ग्रामीणों पर हमला कर उन्हें अपना निवाला बनाया था घटनाक्रम को लेकर के ग्रामीणों में भय देखा जा रहा है। रिपोर्ट-लोकेश त्रिवेदी।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

बार्डर पर दिखेगी हरियाली : एसएसबी ने अभियान चलाकर गांवों में कराया पौधारोपण

🔊 Listen to this हजारा। थाना क्षेत्र के नेपाल बॉर्डर पर स्थित एसएसबी द्वारा पौधरोपण …