♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

जिलाधिकारी द्वारा जिला पूर्ति कार्यालय का किया औचक निरीक्षण

पीलीभीत। डीएम पुलकित खरे द्वारा आज जिला पूर्ति कार्यालय का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान कार्यालय में उपस्थित जांच के दौरान सभी अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित पाए गये। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा पटल सहायकों के कार्याें की समीक्षा की गई तथा उनके अलमारियों में रखे अभिलेखों की जांच की गई। अलमारियों में रखे अभिलेख व्यवस्थित रूप से रखे हुये नहीं पाये गये। पटल सहायक द्वारा अलमारी की विभिन्न स्लैबो में रक्षित पत्रावलियों से सम्बन्धित विषय की पट्टिका का अंकन स्लैबो पर नहीं किया गया था, जिस पर जिलाधिकारी द्वारा असंतोष व्यक्त करते हुये सम्बन्धित पटल सहायक निर्देशित किया गया कि समस्त पत्रावलियों की विषयवार सूची तैयार कर प्रत्येक अलमारी पर चस्पा कराना सुनिश्चित किया जाये। इसके साथ ही साथ जिलाधिकारी द्वारा जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया गया कि कार्यालय में निष्प्रोज्य सामग्री की सूची तैयार कर उनका नियमानुसार निस्तारण कराना सुनिश्चित किया जाये।
निरीक्षण के दौरान हाॅलनूमा कक्ष में अलमारियां रखी पाई गई। जिलाधिकारी द्वारा पूछे जाने पर उपस्थित कर्मचारी द्वारा अवगत कराया गया कि उक्त कक्ष मंे कार्यालय के 04 लिपिकों द्वारा शासकीय कार्य का निष्पादन किया जाता है। उक्त अलमारियां काफी अस्त व्यस्त स्थिति में पाई गई। जिलाधिकारी द्वारा जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया गया कि कक्ष मंे अस्त व्यस्त रूप से रखी सामग्री को सुव्यवस्थित ढं़ग से रखना सुनिश्चित किया गया और जो भी अभिलेख वीडिंग योग्य है उनका वीडिंग कराना सुनिश्चित किया जाये तथा अलमारियों में रक्षित पत्रावलियों/अभिलेखों सूची तैयार कर अलमारियों पर चस्पा कराना सुनिश्चित किया जाये। इसके साथ ही साथ कार्यालय में साफ सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये गये।
निरीक्षण के दौरान जिला पूर्ति अधिकारी ए0पी0सिंह, पूर्ति निरीक्षक नरेश कुमार, प्रधान सहायक मो0 यूसुफ, पूर्ति लिपिक  अंचल राय, पूर्ति लिपिक श्रीमती शिल्पी गंगवार, श्री सचिन शर्मा, श्रीमती फरहान,  ओम प्रकाश व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी उपस्थित रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

क्या भविष्य में ऑनलाइन वोटिंग बेहतर विकल्प हो?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Close
Close
Website Design By Mytesta.com +91 8809666000