♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

यूपी के सभी 75 जिलों के डीएम को भेजी गई पीलीभीत की बनी बाँसुरी, मांगा सहयोग

जिलाधिकारी ने दीपावली के शुभ अवसर पर प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों को बॉसुरी भेंट करते हुये बॉसुरी उद्योग को बढ़ावा देने में सहयोग करने की अपील।
जिलाधिकारी ने जनपदों में आयोजित होने वाले मेला, महोत्सव व अन्य कार्यक्रमों में जनपद कारीगरों को अवसर प्रदान करने की करी अपील।

पीलीभीत। डीएम पुलकित खरे ने जनपद की पहचान एवं एक जनपद एक उत्पाद योजना में सम्मिलित बॉसुरी उद्योग को बढावा देने के दृष्टिगत प्रदेश के समस्त 75 जिलों के जिलाधिकारियों को दीपावली पर्व के मंगल अवसर पर बॉसुरी भेंट करते हुये दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाऐं देते हुये सभी से अपील की गई है कि बॉसुरी उद्योग को बढ़ावा देने हेतु अपने जनपद में आयोजित होने वाले मेला, उत्सव, महोत्सव में जनपद के कारीगरों को आमंत्रित करते हुये बॉसुरी उद्योग को बढावा देने में ं अपना सहयोग प्रदान करें। जनपद के कारीगर इकरार मियां व अन्य कारीगरों द्वारा जिलाधिकारी को बॉसुरी भेंट की गई बॉसुरियों को जनपदों में भेजी जा रही हैं।
जिलाधिकारी ने सभी जिलों के जिलाधिकारियों को शुभ कामना सन्देश पत्र में कहा है कि एक जनपद-एक उत्पाद योजना के अन्तगत बॉसुरी का चयन किया गया है। जनपद परम्परागत रूप से बॉसुरी नगरी के रूप में जाना जाता है। देश विदेश में कान्हा की मुरली पीलीभीत के कारीगरों द्वारा अपने हुनर के सुरों से सजाकर बनाते हुए भेजी जाती है। बॉसुरी के उत्पादन हेतु जनपद के लगभग 200 से 250 कारीगर परिवारों की आजीविका सीधे तौर पर निर्भर है तथा यह जनपद की अमूल्य सांस्कृतिक विरासत है। जनपद में मेले, उत्सव, हाट-बाजार का आयोजन हो या नियमित रूप से होता हो तो पीलीभीत के बॉसुरी कारीगरों को अपने जनपद में लगने वाले उक्त मेलों, उत्सवों, महोत्सवों तथा हाठ-बाजारों में बॉसुरी स्टॉल लगाने हेतु समुचित अवसर प्रदान करें। जिससे एक ओर इस जनपद की अमूल्य धरोहर बॉसुरी जनपद एवं उसके आस पास के क्षेत्रों में व्यापक प्रचार प्रसार होगा। वहीं दूसरी ओर बॉसुरी कारीगरों को आजीविका का समुचित अवसर प्राप्त भी होगा। बॉसुरी कारीगरों को अपने जनपद में उपरोक्त अवसरों पर आमंत्रित करने हेतु महाप्रबन्धक, जिला उद्योग केन्द्र पीलीभीत के मो0नं0 8630575937 व 8449133298 पर सम्पर्क कर कारीगरों को अपने जनपद में प्रदर्शन कर अवसर प्रदान करें तथा उनके जीवन को भी प्रकाशमय करें।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

क्या भविष्य में ऑनलाइन वोटिंग बेहतर विकल्प हो?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Close
Close
Website Design By Mytesta.com +91 8809666000